PIL filed in Bombay High Court for staging IPL during Covid Crisis, demand to pay Rs 1000 Crore and unconditional apology | IPL को लेकर Bombay High Court में याचिका दायर, BCCI से 1000 करोड़ रुपये हर्जाने की मांग


मुंबई: कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बाद भारतीय प्रीमियर लीग 2021 (आईपीएल 2021) को अनिश्चित काल के लिए टाल दिया गया है। इसके बाद बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इन इंडिया (BCCI) को एक और झटका लगा। आईपीएल को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट (बॉम्बे हाई कोर्ट) में जनहित याचिका दायर की गई।

1000 करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग

बॉम्बे हाई कोर्ट (बॉम्बे हाई कोर्ट) में वकील वंदना शाह ने यह याचिका दायर की है और कोरोना काल में आईपीएल के आयोजन के लिए बीसीसीआई (बीसीसीआई) से एक हजार करोड़ रुपये हर्जाना देने की मांग की गई है। इसके साथ ही याचिका में कहा गया है कि आईपीएल 2021 के अपने जोखिम में से बीसीसीआई कोरोना का इलाज कर रहे अस्पतालों को डोनेशन दे।

ये भी पढ़ें- कोरोना के आगे हारा आईपीएल, लेकिन इन खिलाड़ियों ने जीता दिल

याचिका में कही गए हैं

अपनी याचिका में जनता के प्रति बीसीसीआई की जवाबदेही पर सवाल उठाया और कहा कि बोर्ड को अपनी लापरवाही के लिए बिना शर्त माफी मांगने का आदेश दिया जाना चाहिए। याचिकाकर्ता ने कहा कि वह खुद खेल की चिंग हैं, लेकिन ऐसे संवेदनशील समय में लोगों की जान बहुत जरूरी है। याचिका में कहा गया है कि भले ही आईपीएल खिलाड़ी और कर्मचारी ब्यो बबाल में हों, कोरोनावायरस से हानिकारक होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है और ऐसी स्थिति में, प्रसार अधिक होगा क्योंकि खिलाड़ी सामाजिक दूरी और प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हैं।

खिलाड़ियों के चेतन होने के बाद टला आईपीएल

आईपीएल गवर्निंग काउंसिल और बीसीआईएसआई ने मंगलवार को इमरजेंसी मीटिंग के बाद आईपीएल को टालने का फैसला किया। सनराइजर्स हैदराबाद के विकेटकीपर-आगंतुक रिद्धिमान साहा और दिल्ली कैपिटल के दिग्गज स्पिनर अमित मिश्रा के कोविड -19 से लेकर होने के कुछ घंटे बाद यह फैसला आया। इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के वरुण चक्रवर्ती और संदीप वैटर तीन मई पॉजिटिव पाए गए थे। इसके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी भी स्वभाव पाए गए हैं।

6 मई को सुनवाई होगी

याचिका दायर होने के कुछ देर बाद ही बीसीसीआई ने आईपीएल को टाल दिया, लेकिन इसके बावजूद वकील वंदना शाह का कहना है कि आईपीएल के टकिंग के बाद भी वह कोर्ट से बीसीसीआई पर 1000 करोड़ रुपये हर्जाना और बिना शर्त माफी मांगने की मांग करेंगे। बता दें कि इस याचिका पर बॉम्बे हाई कोर्ट में गुरुवार (6 मई) को सुनवाई होगी।

लाइव टीवी



Source link