Maharishi University Assistant Professor Clashed Police Officer In Rohtak | पुलिस अफसर के साथ भिड़ी MDU की बेमास्क असिस्टेंट प्रोफेसर; बोली-ऐसे ही संक्रमण फैलाऊंगी, कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता

क्राइम फाइल की सिंबॉलिक इमेज-आज रोहतक में कोरोना प्रोटोकॉल तोडृने पर एक महिला असिस्टेंट प्रोफेसर पर केस दर्ज किए जाने का मामला सामने आया है।

कोरोना महामारी को रोकने के लिए जहां हर शख्स से सहयोग की आस की जाती है, वहीं रोहतक में इसके एकदम उलट एक कहानी देखने को मिली। यहां मास्क नहीं लगाने पर पुलिस अफसर ने टोका तो महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी (MDU) की एक असिस्टेंट प्रोफेसर गुंडई पर उतर आई। उसने न सिर्फ बिना मास्क घूमने की और किसी के द्वारा कुछ नहीं बिगाड़ लेने की बात कही, बल्कि पुलिस वालों के साथ हाथपाई पर भी उतर आई। आनन-फानन में विभिन्न धाराओं में केस दर्ज करके पुलिस ने आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया।

घटना सोमवार दोपहर बाद PGIMS के गेट नंबर 1 पर उस वक्त घटी, जब यहां खुद मुख्यमंत्री कोरोना से बिगड़े हालात को लेकर मुआयना करने पहुंचे हुए थे। PGIMS के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह ने बताया कि वह अपनी टीम के साथ चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान सेंट्रो कार में एक महिला वहां पर पहुंची और उतरकर ATM की तरफ जाने लगी। इंस्पेक्टर ने कोरोना महामारी का हवाला देते हुए महिला को मास्क लगाने के लिए कहा और 500 रुपए जुर्माने की चेतावनी दी तो महिला ने अपना नाम विजया दांगी बताया। उसने बताया कि वह MDU में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर तैनात है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक विजया दांगी ने धमकी दी’ मैं न मास्क लगाऊंगी और न जुर्माना भरूंगी। ऐसे ही संक्रमण फैलाऊंगी। मेरा कुछ नहीं कर सकते’। वहां मौजूद महिला ASI संतोष ने भी समझाने की कोशिश की तो विजया नामक इस महिला ASI के साथ भी हाथापाई पर उतर आई। इतना ही नहीं, धमकी दी कि वह नौकरी करना सिखा देगी और वर्दी उतारनी पड़ जाएगी। मामला ज्यादा बढ़ने पर असिस्टेंट प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया गया। साथ ही असिस्टेंट प्रोफेसर के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है।

Source link