Coronavirus Vaccine Registration 18+: COVID Vaccination Explained | Vaccine Registration For 18+ In India: All Your Questions Answered | 18+ को 1 मई से लगेगी कोरोना वैक्सीन; रजिस्ट्रेशन कल से, जानिए सबकुछ क्योंकि बिना अपॉइंटमेंट नहीं लगेगी अब वैक्सीन

 

  • Coronavirus Vaccine Registration 18+: COVID Vaccination Explained | Vaccine Registration For 18+ In India: All Your Questions Answered

केंद्र सरकार ने राज्यों और प्राइवेट सेक्टर को कोरोना वैक्सीनेशन में शामिल होने की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही 1 मई से देश की 18+ आबादी का वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन 28 अप्रैल से शुरू हो रहा है। इस नई व्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार ने नई पॉलिसी बनाई है।

इस पॉलिसी को लेकर कई सवाल किए जा रहे हैं। सबसे बड़ा संकट राज्यों के सामने है, जिन पर 18-44 वर्ष आयु समूह के लोगों को वैक्सीनेट करने की जिम्मेदारी डाल दी गई है। परेशानी यह है कि किसी भी राज्य ने अपनी आबादी को वैक्सीनेट करने के लिए कोई बजट तय किया ही नहीं था। ऐसे में पैसे की व्यवस्था हो भी जाए तो वैक्सीन डोज को लेकर राज्यों में मची होड़ में अपना हिस्सा कैसे जुटा सकेंगे?

जाहिर है, सियासी लड़ाई अभी लंबी चलने वाली है। खैर, सबसे पहले हम बात करते हैं कि वैक्सीनेशन करने के लिए आपको क्या करना होगा? वैक्सीन कौन-सी लगेगी और कितने दिन में उससे एंटीबॉडी आपके शरीर में बनेगी…

18+ को वैक्सीनेट करने पर सियासत क्यों हो रही है?

  • पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हाईलेवल की बैठक में देश की 18+ आबादी को वैक्सीनेट करने का फैसला लिया गया। पर यह बहुत पेचीदा है। पॉलिसी के तहत कसौली की सेंट्रल ड्रग लैबोरेटरी से मंजूरी मिलने के बाद 50% डोज केंद्र के पास जाएंगे और बचे हुए डोज राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों में बंट जाएंगे।
  • केंद्र सरकार ने कोवीशील्ड के लिए सीरम इंस्टीट्यूट और कोवैक्सिन के लिए भारत बायोेटक से 150 रुपए प्रति डोज की कीमत चुकाने की डील की है। वहीं राज्यों के लिए कोवीशील्ड का एक डोज 400 रुपए का और कोवैक्सिन का एक डोज 600 रुपए का पड़ेगा। कंपनियों ने यह कीमत तय की है।
  • अब इसे लेकर कई सवाल है, जिनके जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है। मसलन… केंद्र और राज्यों की सरकारों के लिए अलग-अलग कीमत क्यों? केंद्र खुद खरीदकर राज्यों को वैक्सीन डोज उपलब्ध क्यों नहीं करा रहा? राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को मिलने वाले वैक्सीन डोज का बंटवारा कैसे होगा?
  • इस पर सियासत भी गरमा गई है। राजस्थान, झारखंड, पंजाब और छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्रियों ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि केंद्र उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। सीरम इंस्टीट्यूट से जब उन्होंने डोज मांगे तो जवाब मिला कि 15 मई से पहले यह संभव नहीं होगा। अब यह राज्य कह रहे हैं कि बजट में था नहीं फिर भी पैसे तो जैसे-तैसे जुटा लेंगे पर वैक्सीन डोज मिले ही नहीं तो 18+ को वैक्सीनेट करेंगे कैसे?

 

खबरें और भी हैं…


Source link